उपकार I मेरे देश की धरती लिरिक्स I मनोज कुमार

उपकार I मेरे देश की धरती लिरिक्स  I मनोज कुमार : नमस्कार दोस्तों, HINDISONGLYRIC.IN  में आपका स्वागत है,  mere desh ki dharti lyrics मेरे देश की धरती बॉलीवुड फिल्म उपकार (1967) का एक हिंदी देशभक्ति गीत है। जिसे गुलशन कुमार मेहता द्वारा लिखा गया है । इस mere desh ki dharti lyrics in hindi गीत के संगीत कल्याणजी-आनंदजी ने तैयार किया था। महेंद्र कपूर पार्श्व गायक थे। फिल्म में मनोज कुमार पर चित्रित किया गया था। इस mere desh ki dharti lyrics गीत ने मनोज कुमार को मिस्टर भारत का उपनाम दिया।
mere desh ki dharti lyrics
mere desh ki dharti lyrics

Mere Desh ki Dharti lyrics in hindi & English


मेरे देश की धरती सोना उगले
MERE DESH KI DHARATI SONA UGALE,
उगले हीरे मोती
UGALE HIRE MOTI
मेरे देश की धरती ...
MERE DESH KI DHARATI ...

बैलों के गले में जब घुंघरू
BAILON KE GALE ME JAB GHUNGHARU
जीवन का राग सुनाते हैं
JIVAN KA RAG SUNATE HAIN
ग़म कोस दूर हो जाता है
GAM KOS DOOR HO JATA HAI
खुशियों के कमल मुस्काते हैं
KHUSHIYON KE KAMAL MUSKATE HAIN
सुनके रहट की आवाज़ें
SUNAKE RAHAT KI AAWAZEN
यूँ लगे कहीं शहनाई बजे
YUN LAGE KAHIN SHAHANAI BAJE
आते ही मस्त बहारों के
AATE HI MAST BAHARON KE
दुल्हन की तरह हर खेत सजे
DULHAN KI TARAH HAR KHET SAJE,
मेरे देश की धरती सोना उगले,
MERE DESH KI DHARATI SONA UGALE,
उगले हीरे मोती
UGALE HIRE MOTI
मेरे देश की धरती ...
MERE DESH KI DHARATI ...


जब चलते हैं इस धरती पे
JAB CHALATE HAIN IS DHARATI PE
हल ममता अंगड़ाइयाँ लेती है
HAL MAMATAA ANGADAIYAN LETI HAI
क्यूँ ना पूजे इस माटी को
KYUN NAA PUJE IS MAATI KO
जो जीवन का सुख देती है
JO JIIVAN KAA SUKH DETI HAI
इस धरती पे जिसने जनम लिया,
IS DHARATI PE JISANE JANAM LIYA
उसने ही पाया प्यार तेरा
USANE HI PAYA PYAR TERA
यहाँ अपना पराया कोई नहीं है
YAHAN APANA PARAYA KOI NAHIN HAI
सब पे है माँ उपकार तेरा
SAB PE HAI MAA UPAKAR TERA
मेरे देश की धरती सोना उगले 
MERE DESH KI DHARATI SONA UGALE,
उगले हीरे मोती
UGALE HIRE MOTI
मेरे देश की धरती ...
MERE DESH KI DHARATI ...

ये बाग़ है गौतम नानक का
YE BAAG HAI GAUTAM NANAK KA
खिलते हैं चमन के फूल यहाँ
KHILATE HAIN CHAMAN KE PHUL YAHAN
गांधी, सुभाष, टैगोर, तिलक,
GANDHI, SUBHASH, TAIGOR
ऐसे हैं अमन के फूल यहाँ
TILAK, AISE HAIN AMAN KE PHUL YAHAN
रंग हरा हरी सिंह नलवे से
RANG HARA HARI SINGH NALAVE SE
रंग लाल है लाल बहादुर से
RANG LAAL HAI LAAL BAHADUR SE
रंग बना बसंती भगत सिंह
RANG BANA BASANTI BHAGAT SINGH
रंग अमन का वीर जवाहर से
RANG AMAN KAA VIR JAVAHAR SE,
मेरे देश की धरती सोना उगले,
MERE DESH KI DHARATI SONA UGALE,
उगले हीरे मोती
UGALE HIRE MOTI
मेरे देश की धरती ...
MERE DESH KI DHARATI ...


Tags: mere desh ki dharti lyrics, mere desh ki dharti lyrics in hindi, mere desh ki dharti lyrics hindi, mere desh ki dharti lyrics in English, mere desh ki dharti lyrics in gujarati, mere desh ki dharti lyrics English, mere desh ki dharti lyrics download

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां